CrimeHindi

NIA को मिले सबूत, होटल से फिरौती रैकेट चला रहा था सचिन वझे

एक क्लब के मालिक से घंटों हुई पूछताछ

03 Apr. Mumbai: एंटीलिया केस में गिरफ्तार मुंबई पुलिस के सस्पेंड कर दिए गए API सचिन वझे की NIA कस्टडी आज समाप्त हो रही है। दिन में 11 बजे के बाद वझे को मेडिकल के लिए ले जाया जाएगा और फिर स्पेशल NIA कोर्ट में पेश किया जाएगा। माना जा रहा है कि NIA को अभी मनसुख की हत्या मामले में कुछ और जांच करनी है। केंद्रीय जांच एजेंसी गुरुवार को पकड़ी गई मिस्ट्री वुमन मीना जॉर्ज को वझे के सामने बैठा कर पूछताछ भी करना चाहती है, इसलिए अभी वह कस्टडी को बढ़ाने की अपील कर सकती है।

इस बीच सचिन वझे को लेकर NIA ने एक नया खुलासा किया है। सूत्रों की जानकारी के अनुसार, सचिन वझे मुंबई के नरीमन पॉइंट स्थित एक 5 स्टार होटल के एक कमरे से कथित तौर पर फिरौती का एक रैकेट चला रहा था। इस कमरे को जावेरी बाजार के एक बिजनेसमैन ने 100 दिनों के लिए बुक किया था, जिसके लिए 12 लाख का भुगतान किया जा चुका था।

इसके अलावा NIA की जांच में यह भी सामने आया है कि सचिन वझे के लिए मुंबई के एक ट्रैवल एजेंट ने स्वर्ण कारोबारी के कहने पर 19वें फ्लोर पर कमरा नंबर 1964 बुक करवाया था। ID प्रूफ में होटल को उनका फेक आधार कार्ड दिया गया था, जिसमें वझे का नाम सुशांत सदाशिव खामकार दर्ज था। केंद्रीय जांच एजेंसी (NIA) को होटल से कई सबूत हाथ लगे हैं। इनमें CCTV फुटेज, बुकिंग रिकॉर्ड और स्टाफ का बयान शामिल है।

NIA सूत्रों के अनुसार, वझे को यह आशंका थी कि आने वाले समय में उसे छिपना पड़ सकता है। इसलिए उसने यह तैयारी पहले से कर ली थी। नरीमन पॉइंट स्थित होटल के एक कमरे में तलाशी टीम को ज्यादा कुछ नहीं मिला, लेकिन स्टाफ के बयान से यह स्पष्ट हुआ है कि वझे से मिलने के लिए कुछ लोग यहां जरूर आए थे। वझे यहां 16 से 20 फरवरी तक रुका था। NIA ने यहां से 35 कैमरों के फुटेज जब्त किए हैं।

NIA ने शुक्रवार को मुंबई के एक क्लब ओनर का बयान रिकॉर्ड किया है। यह क्लब साउथ मुंबई में एक होटल में है। NIA को क्लब के मालिक और मनसुख हिरेन की हत्या मामले में गिरफ्तार क्रिकेट बुकी नरेश गोर और सस्पेंड कॉन्स्टेबल विनायक शिंदे के बीच संबंध की जानकारी मिली है। NIA ने उसे शुक्रवार सुबह 11 बजे पूछताछ के लिए बुलाया था और शाम 4.50 बजे घर जाने दिया।

बता दें कि शुक्रवार को NIA के अधिकारियों ने सचिन वझे के साथ काम कर चुके रियाजुद्दीन काजी और प्रकाश होवल से भी पूछताछ की है। यही नहीं इससे पहले भी कई बार NIA की टीम दोनों से पूछताछ कर चुकी है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button