भारत में कब सुधरेंगे कोरोना के हालात?

भारत में अब तक के सबसे ज्यादा कोरोना केस बुधवार को दर्ज किए गए,पॉजिटिव आंकड़ों के साथ-साथ देश में मौत के आंकड़े भी रिकॉर्ड ब्रेक ही दर्ज हुए।

देश में कोरोना की दूसरी लहर बेकाबू होती जा रही है। देश में बुधवार को रिकॉर्ड 4 लाख 12 हजार 373 मामले आए। यह एक दिन में मिलने वाले संक्रमितों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। नए मामलों के साथ मौतों के आंकड़े बढ़ने से लोगों की चिंता भी बढ़ती जा रही है। बीते दिन दुनिया में 14,278 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हुई। इनमें 3,979 मौतें सिर्फ भारत में ही रिकॉर्ड की गईं। यानी दुनिया में महामारी की वजह से हुई हर चौथी मौत भारत में ही दर्ज की गई। हालांकि, राहत की बात यह रही कि पिछले 24 घंटे में यहां 3 लाख 30 हजार 525 लोगों ने कोरोना की जंग जीत ली।

सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को एक बार फिर दिल्ली के ऑक्सीजन संकट और कोरोना के हालात पर सुनवाई हुई।सर्वोच्च अदालत ने इस दौरान कोरोना की तीसरी लहर को लेकर चिंता व्यक्त की और उसको लेकर अभी से तैयारियां करने पर ज़ोर दिया।

कोरोना महामारी में दिल्ली के अस्पतालों में बिगड़ते हालातों और ऑक्सीजन की कमी के बीच केजरीवाल सरकार ने एक बड़ी राहत का ऐलान किया है। सरकार ने कहा है कि होम आइसोलेशन में कोरोना के जिन मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत है वे सरकार की वेबसाइट delhi.gov.in पर आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए वैलिड फोटो आईडी, आधार कार्ड की डिटेल्स और कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट देनी होगी।

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच केरल में 6 मई सुबह 6 बजे से 16 मई तक लॉकडाउन लगाने का ऐलान कर दिया गया है। मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने गुरुवार को इसका ऐलान किया।

रोज मिलने वाले मरीजों की संख्या के मामले में अब महाराष्ट्र के बाद दो राज्य कर्नाटक और केरल भी डराने लगे हैं। कर्नाटक में बुधवार को रिकॉर्ड 50 हजार से ज्यादा मरीज मिले हैं, वहीं केरल में भी 41,953 लोग पॉजिटिव हुए हैं।

ब्रिटेन गए भारतीय प्रतिनिधिमंडल के दो मेंबर कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। प्रतिनिधिमंडल में विदेश मंत्री एस जयशंकर भी शामिल हैं। हालांकि उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन हालात में अब जयशंकर G-7 समेत अन्य कार्यक्रम में वर्चुअली शामिल होंगे।

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 181 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं। राजधानी की पुलिस में अभी 3 हजार कोरोना प्रभावित जवानों का इलाज चल रहा है।

महामारी के इस दौर में भी कुछ कालाबाजारी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।ताजा मामला इंदौर शहर से सामने आया, जहां एक युवक पैसों के लालच में लोगों से रुपए लेकर उनकी जान तक जोखिम में डाल रहा था। युवक ने कोरोना के इलाज में इस्तेमाल होने वाले टोसिलिजुमैब (टोसी) इंजेक्शन में पानी भरकर पीड़ितों को ढाई-ढाई लाख रुपए में बेच दिए।

वही नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीड़न मामले आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे आसाराम कोरोनावायरस पाए गए हैं।कल उनका ऑक्सीजन लेवल कम होने से तबीयत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Whatsapp