FeaturedHindi

मोनोलिथ क्या है जो आज कल कई जगहों पर पाए जा रहे हैं?

1 Jan. Vadodara: पिछले कुछ महीनों में आप सभी ने एक शब्द जरूर सुना होगा ‘Monolith’ (मोनोलिथ)! अब आप में से कुछ लोगों को मोनोले क्या है पता होगा लेकिन कुछ लोगों के लिए यह शब्द नया होगा। अपने से बहुत लोगों ने शायद आज इस शब्द को पहली बार सुना होगा।

सबसे पहले आपको बता दें कि मोनोलिथ क्या है…

दरअसल मोनोलिथ का मतलब होता है एक पत्थर का खंबा या तो यूं ही कह सकते हैं कि पहाड़ या चट्टान का एक बड़ा टुकड़ा या फिर एक इमारत के एक विशाल पत्थर या चट्टान को मोनोलिथ कहा जाता है।

इसकी आमतौर पर भूवैज्ञानिक संरचना यानी कि Geologic Structure बहुत चमकदार होते हैं। और इसमें आप अपने आपको भी देख सकते हैं यानी कि आप का प्रतिबिंब इसमें दिखेगा। और वैसे भी इन दिनों सोशल मीडिया पर कई जगहों पर पाए गए मोनोलिथस की तस्वीरें वायरल हो रही हैं।

हाल ही की बात करें तो भारत में पहला मोनोलिथ अहमदाबाद में पाया गया है। लेकिन अमदाबाद से पहले अमेरिका, उटा रेगिस्तान, उत्तरी रोमानिया में भी मोनोले देखे जाने की खबरें आई थी। मोनू ने जो एक बहुत बड़ा सीधा टुकड़ा होता है, उसे विशेष रूप से प्राचीन काल में रखा गया था।

vnm tv

पिछले कुछ दिनों से देश में अलग अलग स्टील के खंबे दिखाई दे रहे है और कुछ समय बाद vo गायब हो जाते है इन खंबो को ही मोनोलिथ कहते है। कुछ मोनोलिथ मानवनिर्मित यानी कि man made होते हैं तो कुछ natural यानी प्राकृतिक बने होते हैं।

सबसे पहले 18 नवंबर 2020 को अमेरिकी राज्य युटा में स्थानीय आधिकारी द्वारा हेलीकॉप्टर से निगरानी करते समय 10 से 12 फिट ऊंचा त्रिकोणीय धातु का मोनोलिथ लाल रंग की एक विशाल चट्टान के बीच दिखाई दिया। यह वहां कब और कैसे पहुंचा यह अभी तक किसी को नहीं पता है और एक हफ्ते बाद यह गायब हो गया।

उसके बाद 27 नवंबर को रोमानिया के पेट्रोडाओ डासिएन किले के पास 2.8 मीटर का मोनोलिथ फिर से देखा गया।

तीसरी बार 2 दिसंबर को कैलिफोर्निया के पहाड़ों में देखा गया और चौथी बार 7 दिसम्बर को नेदरलैंड में दिखाई दिया।

अभी तक यह एक रहस्य बना हुआ कि यह monolith कहा से आते हैं और कहां गायब हो जाते हैं। अब तक दुनियाभर में 5 रहस्यमय खंबे नजर आ चुके हैं जिनमें चार सफेद चांदी के रंग के हैं और अमेरिका में देखा जाने वाला खम्बा सोने का है।

और इसके बाद फिर गुजरात राज्य के अहमदाबाद शहर में 29 दिसंबर को एक मोनोलिथ देखा गया है, जिसे देखने के लिए अब वहां लोगों की भीड़ लग गयी है। ये मोनोलिथ भी बाकी के 4 सफ़ेद चांदी के रंग वाले मोनोलिथ की तरह है।

इसके बाद एक सवाल दिमाग में आता है की जो सोने का खमबा यानी मोनोलिथ अमेरिका में पाया गया क्या वो सफ़ेद चंडी के रंग वाले मोनोलिथ को नियंत्रित करता है?

अमेरिका के कोलंबिया में देखा जाने वाला सोने का खम्बा देख कर वहां के स्थानीय लोगों को ऐसा लगता है कि kahin यह गोल्ड मास्टर मोनोलिथ तो नहीं जो बाकी के 4 चांदी के रंग वाले खम्बो को नियंत्रित करता है। कोलंबिया में प्रशासन को उस वक़्त के आखिर में एक गोल्डन खंबा मिला है और एक खंभा क्रापटन बीच पार मिला है इसके अलावा बहुत सारे अलग-अलग जगहों पर चांदी के रंग की धातु के खंबे नजर आए हैं।

वहीँ दूसरी ओर नागालैंड के लोगों का कहना है कि इस धातु के खंबे के पास किसी के पैरों के निशान नहीं है क्योंकि अभी तक किसी के पास यह जानकारी उपलब्ध नहीं है कि यह खंबे कहां से आए कहां गए। कोलंबिया के लोग सोने का खंबा मिलने के बाद काफी ज्यादा तनाव में हैं। खंबे लगाने का काम एलियंस का तो नहीं है? ऐसा कोलंबिया के लोगों को यह डर बहुत सता रहा है। ‘The Most Famous Artist’ जोकि एक संप्रदाय है उन्होंने ने अब इन मोनोलिथ की जिम्मेदारी ली है जिसकी स्थापना मैटी मो ने की थी। यह समूह दुनिया भर में धातु के तीन तरह के खंबे बेचते हैं जिनमें से एक खंबे की कीमत 45000 डॉलर है। जब मैटिमो से पूछा गया तो उन्होंने यह जानकारी दी कि मोनोलिथ अब उनके नियंत्रण में नहीं हैं।

रोमानिया और उटा में भी जो मोनोलिथ पाया गया है उसके बारे में भी आपको बता देते हैं

रोमानिया में 13 फीट लंबा मोनोलिथ पाया गया

इस मोनिलिथ में एक प्रतिबिंबित सतह है।

यह उत्तरी रोमानिया में बटका डूमनेई पहाड़ी पर 82 ईसा पूर्व और ईसवी के बीच प्राचीन डेशियन लोगों द्वारा निर्मित एक किले के पास पाया गया था।

यूटा में मोनोलिथ 9.5 फिट लंबा था।

यह सफेद धातु की चादर से बना था जो कि एक त्रिकोणीय प्रिज्म का आकार में एक साथ रिवेटेड था।

इसे लाल रंग की एक चट्टान के बीच स्थापित किया गया था।

जनरल एफएम रेडियो स्टेशन मोनोलिथ की जांच करने उस स्थान पर पहुंचा था जहां पर मोनोलिथ दिखाई दिए थे। उन्होंने उसके बाद बताया कि हमें ऐसी धातु की संरचना मिली थी जिसकी सतह पर गोल निशान बने हुए थे जिसको देखकर हम सब बहुत सरप्राइस थे। बाद में उन्होंने बताया कि रहस्यमय तरीके से यह मोनोलिथ 30 नवंबर को गायब हो गया। दिसंबर के पहले हफ्ते के आखिर में कुछ लोगों ने इस्ले ऑफ व्हाइट के समुद्र तट पर एक चमत्कार मोनोलिथ को देखा। इन सभी विवादों के बाद मेक्सिको के आर्ट कलेक्टिव द मोस्ट फेमस आर्टिस्ट ने दावा किया है की “यूटा और कैलिफोर्निया में दिखे मोनोलिथ उसने लगाए थे”। मीडिया के मुताबिक उसने अपने इंस्टाग्राम पेज पर तीन तस्वीरें शेयर की हैं जिनमें से दो उनके बनाए खंभों की है और एक कैलिफोर्निया में मिले खंबे की है।

तो वहीँ इसके बाद धातु के बने खंबे दुनियाभर में रहस्य का विषय बने हुए है। इसे बाद में दक्षिणपंथी युवकों ने उखाड़ कर फेंक दिया। इन्होंने धातु के खंभों की जगह पर लकड़ी के क्रॉस यानी जो ईसाइयों का पवित्र चिन्ह होता है वो लगा दिया है। इस दौरान युवकों ने अमेरिका फर्स्ट और क्रायिस्ट इस किंग के नारे लगाए। उन्होंने इस पूरी घटना को सोशल मीडिया पर लाइव भी दिखाया था। धातु का यह रहस्यमय खंबा कैलिफ़ोर्निया के पहाड़ के ऊपर लगाया गया था। एक युवक ने कहा कि इस देश में ईसा मसीह ही राजा है। हम मेक्सिको या बाहरी दुनिया के अवैध एलियंस को नहीं चाहते हैं। काफी मेहनत करने के बाद इन खंभों को उखाड़ फेका। वह के लोगो ने धातु के खम्बो को रस्सी से बांधकर पहाड़ी से नीचे फेंक दिया।

अगर आपको भी मोनोलिथ की कोई और जानकारी मिले तो कमेंट कर बताएं ज़रूर।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button