covid-19Hindi

आधा अधूरा मास्क पहनना खतरनाक

आधा अधूरा मास्क पहनना खतरनाक

File Photo

16 Oct. Vadodara: Covid 19 के इस दौर में अपने आपको कोरोना से बचाने के लिए सरकार आरोग्य विभाग द्वारा बनाए गए नीति नियमों के पालन के साथ उचित तरीके से मास्क पहनना भी अनिवार्य है,यदि कोई योग्य रूप से मास्क और मुंह को पूरी तरह ढककर मास्क नहीं पहनता तो यह उसकी सेहत के लिए खतरे कि घंटी है।

आज जिस तरह से कोरोना का ज़ोर दिन ब दिन बढ़ता जा रहा है, ऐसे में कहीं न कहीं लोगों की लापरवाही भी दोषित है। विशेषज्ञों और संशोधनों के अनुसार कॉरोना का वायरस नाक को निशाना बनाता है।खुली नाक इस वायरस को खुला आमंत्रण है। ज़्यादातर महिलाएं ठीक तरीके से मास्क नहीं पहनती, नाक को ढकती ही नहीं। कई बार तो मास्क केवल गले में ही लटका रहता है।यह तो मास्क न पहनने के बराबर ही है।

इस महामारी से बचने के लिए आम नागरिकों की ज़िम्मेदारी काफी बढ़ जाती है। CDS की मार्गदर्शिका अनुसार घर से बाहर निकले तो नाक और मुंह को पूरा ढक सके ऐसा मास्क पहने,मास्क ठुड्डी से नीचे तक का होना चाहिए।इस प्रकार पहना हुआ मास्क आपकी तो रक्षा करता ही है, साथ में इस रोग को फैलने से भी रोकता है।दूसरे व्यक्ति द्वारा छींकने,खांसने,सांस लेने ,बातचीत करने के वक्त निकलते सूक्ष्म कीटाणु आप तक नहीं पहुंच पाते।

आंतर्रराष्ट्रीय संशोधकों की टीम ने अप्रैल में कहा था कि नाक Covid 19 को फैलाते वायरस SARS-CoV-2 का प्रवेश द्वार नाक है journal nature medicine में प्रकाशित इस जानकारी में उन्होंने कहा कि नाक के सेल्स में निहित ACE2 और TMPR SS2 प्रोटीन को यह वायरस प्रभावित करता है।नाक से कोरोनावायरस फेफड़ों में घुसता है।यूं नाक सबसे अधिक इंफेक्शन उत्पन्न करने वाला अंग है।

नाक शरीर के लिए छलनी का काम करता है।लेकिन सूक्ष्म वायरस droplets के जरिए फेफड़ों में जाकर उन्हें प्रभावित करता है।ऐसा ज़्यादातर बुजुर्गों को होता है।जबकि युवाओं में इसका कम जोखिम रहता है।

इसलिए जरूरी है कि covid-19 को लेकर जारी कि गई।मार्गदर्शिका का पूरी तरह पालन करें और स्वस्थ रहे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button