HindiSports

भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच में अडानी के विरोध में मैदान पर उतरे दर्शक

27 Nov. Vadodara: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज का पहला मुकाबला आज से सिडनी में शुरू हो गया है। विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने पिछले दौरे पर कंगारू टीम को वनडे सीरीज में 2-1 से शिकस्त दी थी। हालांकि उस समय बैन के चलते स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा नहीं थे।इन दोनों बल्लेबाजों की वापसी से मेजबान टीम काफी मजबूत दिख रही है।इस सीरीज से ही स्टेडियमों में दर्शकों की वापसी होगी । क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने उपलब्ध सीटों के 50 प्रतिशत तक दर्शकों को प्रवेश की अनुमति दी है।

vnm tv

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहले एक दिवसीय क्रिकेट मैच के दौरान भारी चूक देखने मिली। सिडनी में खेले जा रहे इस मैच के दौरान दो प्रदर्शनकारी सुरक्षा घेरे को तोड़कर मैदान में घुस गए।जिन्हें बाद में बाहर ले जाया गया। एक प्रदर्शनकारी के हाथ में पोस्टर था, जिसमें भारत के अडानी समूह की कोयला परियोजना की निंदा की गई थी।

बताया गया कि, 17 नवंबर को मीडिया में छपी खबरों के मुताबिक, SBI अदाणी ग्रुप को ऑस्ट्रेलियाई कोल माइनिंग प्रोजेक्ट के लिए 1 बिलियन ऑस्ट्रेलियन डॉलर (करीब 5450 करोड़ रुपए) की रकम देगा। यह रकम अदाणी इंटरप्राइजेज की ऑस्ट्रेलियन माइनिंग कंपनी ब्रेवस माइनिंग एंड रिसोर्सेज को प्रदान की जाएगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक SBI और अदाणी ग्रुप के बीच लोन संबंधी बातचीत आखिरी दौर में होनी है। इस मामले पर बैंक अधिकारियों की कमेटी जल्द मंजूरी दे सकती है। इससे पहले सिटी बैंक, डॉयशे बैंक, रॉयल बैंक ऑफ स्कॉटलैंड, HSBC और बार्कलेज ने अदाणी ग्रुप को लोन देने से इनकार कर दिया था।

मैच की शुरुआत में ही पोस्टर लेकर पहुंचा युवक

ये घटना तब बानी जब ऑस्ट्रेलियाई पारी के 7वां ओवर खेला जा रहा था। यह ओवर नवदीप सैनी कर रहे थे। शख्स ने पिच के बिलकुल नजदीक पहुंचकर अपना विरोध जताया। हालांकि, सिक्योरिटी गार्ड्स दोनों प्रदर्शनकारियों को मैदान से बाहर कर दिया गया। बड़ी बात यह भी है की कोरोना के बीच 50% क्रिकेट फैंस को पहली बार स्टेडियम में मैच देखने की अनुमति मिली। सभी टिकट्स आधे दिन में बिक गए थे।

क्यों हो रहा है ऑस्ट्रेलिया में ‘स्टॉप अदाणी’ मूवमेंट?

‘स्टॉप अडाणी’ मूवमेंट ऑस्ट्रेलिया में चर्चा का विषय है। ऑस्ट्रेलियाई लोग अदाणी के प्रोजेक्ट को जलवायु परिवर्तन का दोषी मान रहे हैं। वहीं, ग्रुप ने ऑस्ट्रेलिया में करीब एक दशक बाद 2019 में 16 बिलियन डॉलर के कोल प्रोजेक्ट को हासिल कर लिया। इससे सालाना लगभग 6 करोड़ टन कोयला उत्पादन का अनुमान है। सितंबर में ऑस्ट्रेलिया की विवादास्पद अदानी कोयला खदान ने पर्यावरण कार्यकर्ताओं के खिलाफ जीत दर्ज की थी। जबकि ग्रुप का कहना था कि, इस परियोजना ने निर्माण के दौरान क्वींसलैंड राज्य में 1500 से ज्यादा लोगों को नौकरी दी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button