EntertainmentFeaturedHindi

कोरोना महामारी में नवरात्री के सीजनल व्यापारी भी परेशान

नवरात्री न होने से वेपरियों में मायूसी का माहौल

File Photo

13 Oct. Vadodara: शनिवार 17 अक्टूबर नवरात्री का पावन पर्व शुरू होने वाला है, मगर ऐसे में सीजनल व्यापारियों में उदासीनता छायी है. कोरोना महामारी के कारण इस वर्ष सरकार ने नवरात्री सामूहिक तौर से मनाने पर पाबन्दी करदी है. कोरोना से परेशान व्यापारी अब नुक्सान भोग रहे हैं. क्यूंकि न नवरात्री होगी और नाही चनिया चोली की बिक्री होगी. यूँ तो हर वर्ष नवरात्री आने से एक माह पूर्व ही बाजार में लोगों की भीड़ लग जाती है. परन्तु अब यह भीड़ इस वर्ष नहीं होगी. यूँ इस साल सभी मायूस हैं की इस साल कोई भी नवरात्री में तैयार हो कर गरबा नहीं खेल पायेगा.

माँ आध्यशक्ति की नवरात्री को कोरोना का ग्रहण लग गया है और इसी कारण चनिया चोली व्यापार के व्यापारी और दीयों की हारमाला बनाने वाले व्यापारी सहित माटी में से सामग्री बनाने वाले प्रजापति समाज भी खरीदार नहीं होने से निराश हैं.

वड़ोदरा शहर को कल्चरल सिटी कहा जाता है. और 60 वर्ष में ऐसा पहली बार होगा की कोरोना के कारण लोग गरबा नहीं कर पाएंगे. पहले सरकार शेरी गरबा, और पार्टी प्लॉटों में गरबा करने देने की अनुमति देने पर विचार कर रही थी, मगर अब उस पर भी सरकार की पाबन्दी लग चुकी है. सरकार के फैसले ने विशेष रूप से युवाओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। नवरात्रि से पहले हर साल, नवा बाजार सहित शहर भर के व्यापारियों ने पहले से स्टॉक किया था। लेकिन इस साल, नवरात्रि न होने की खबरें बन रही हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button