FeaturedHindiPolitics

अमेरिकन इमीग्रेशन विभाग ने वहां पढ़ते छात्रों को स्वदेश जाने का , दिया आदेश

File Photo

08 July Vadodara : कोरोना के कारण जहां अधिकतम कंपनियां अपने कर्मचारियों से वर्क फ्रॉम होम के तहत काम करवा रही है, ऐसे में स्कूल से लेकर कॉलेज तक के छात्रों के लिए भी पढ़ाई के लिए ऑनलाइन क्लासेस की व्यवस्था की गई है ।
समग्र विश्व में यही स्थिति है। ऐसे में अमेरिका के इमीग्रेशन एंड कस्टम्स एनफोर्समेंट विभाग ने आदेश जारी किया है कि, अमेरिका की यूनिवर्सिटी के जो छात्र ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं, वे अपने देश रवाना हो जाए। केवल ऑनलाइन क्लास में पढ़ने के बावजूद जो विदेशी छात्र अमेरिका में रहेंगे, उन्हें देश निकाला दे दिया जाएगा। जिन यूनिवर्सिटीज ने ऑनलाइन क्लासेस की घोषणा नहीं की है, वही स्टूडेंट अमेरिका में रह सकेंगे।
इस कारण अधिकतम विदेशी विद्यार्थी पर इस नियम का असर होगा। इस नियम को अमेरिकी शिक्षाविदों ने घातक बताया है ।इसका अमेरिकी सांसदों ने भी विरोध किया है ।इस निर्णय से तकरीबन 10 लाख विदेशी छात्र प्रभावित होंगे। यह तमाम छात्र अमेरिकी सरकार की मंजूरी के बाद ही वहां पढ़ाई कर रहे हैं ।इनको रातों-रात इस तरह स्वदेश भेज देना उचित नहीं है। इस निर्णय से अमेरिका में अंधाधुंधी भी फैल सकती है।

वही h1b और L1 विजा सस्पेंड करने के अमेरिकी प्रेजिडेंट डोनाल्ड ट्रंप के फैसले से भारत की आईटी कंपनियों को खास असर नहीं होगा। भारत की करीब 15 सर्वोच्च आईटी कंपनियां यूएस भेजे जाते टेक्नीशियन की संख्या में कमी करती जा रही है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close