CrimeHindiVadodara News

31 गुनाहों में अपराधी रहे अज्जू काणिया की सेंट्रल जेल में हत्या

शहर में अज्जू काणिया की हत्या से सनसनी मची

File Photo

14 Oct Vadodara ; 31 अपराधों में शामिल रहे अज्जू काणिया को वडोदरा सेंट्रल जेल में मार दिया गया, 4 बार पीटा गया और 2 बार निर्वासित किया गया। वडोदरा सेंट्रल जेल में फिरौती सहित अपराधों में शामिल कुख्यात अज्जू काणिया की वडोदरा सेंट्रल जेल में हत्या कर दी गई है। अज्जू काणिया को हाल ही में क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया था।

अज्जू, जो लंबे समय से हत्या में शामिल अन्य कैदियों के साथ वडोदरा सेंट्रल जेल में रह रहा था, जेल में गर्मागर्मी होने के बाद उस पर बुरी तरह से हमला किया गया था। जिसमें सयाजी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। अज्जू की हत्या के बाद जेल में भी हड़कंप मच गया।

वड़ोदरा क्राइम ब्रांच ने किया था अज्जू को गिरतार

अज्जू काणिया को 4 महीने पहले वडोदरा सिटी वाडी पुलिस ने हिरासत में लिया था। मगर अज्जू पुलिस वालों को चकमा देकर फरार हो गया। फरार अज्जू काणिया को वडोदरा सिटी क्राइम ब्रांच ने पकड़ा और उसे वडोदरा सेंट्रल जेल में स्थानांतरित कर दिया गया था। सूत्रों के मुताबिक, जेल में किसी कारण से साहिल महेश परमार से झगड़ा हुआ था। कहा जा रहा है कि बिपिन परमार हत्या के लिए सजा काट रहे थे।

छप्पर का पत्रा काट कर अज्जू के गले पर फेर दिया

बिपिन और अज्जू के बीच हुई हाथापाई में, साहिल महेश परमार ने छत के पत्रे को उखाड़ और इसे अज्जू काणिया के गले पर फेर दिया। नतीजन, अज्जू काणिया गंभीर रूप से घायल हो गया। गंभीर रूप से घायल हुए अज्जू काणिया को इलाज के लिए एसएसजी अस्पताल ले जाया गया। जहां ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टरों ने उसे इलाज के दौरान मृत घोषित कर दिया।

अज्जू काणिया के खिलाफ हत्या, डकैती, हमला जैसे कई अन्य 31 से अधिक गंभीर अपराध दर्ज

कुख्यात अज्जू कनिया पर अब तक हत्या, डकैती, मारपीट और फिरौती जैसे विभिन्न प्रकार के 31 से अधिक गंभीर अपराध का आरोप है और उसे दो बार निर्वासित करते हुए 4 बार पासा में भेज दिया गया और तनीपर कर दिया था। विशेष रूप से, कुख्यात अज्जू काणिया ने जमीन पर कब्जा करने के लिए पानीगेट क्षेत्र के एक व्यापारी से 10 लाख रुपये की फिरौती और एक फ्लैट की मांग की थी।

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button