FeaturedHindi

बापू की 151वीं जन्मजयंती

गांधीजी और उनके विचार

02 Oct. 2020

सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलने वाले बापू मोहनदास करमचंद गाँधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था.

गांधीजी ने भारत को अंग्रेज़ों से आज़ादी दिलाने में एक एहम भूमिका निभाई. एक संयोग की बात बताई जाती है की गांधीजी का जन्म शुक्रवार को हुआ था और देश को आज़ादी भी शुक्रवार को दिलाई थी.

गांधीजी को बचपन से पढ़ते आये हैं मगर आज देखा जाए तो गांधीजी को अब केवल किताबों में याद किया जाता है. उनके विचारों की बातें तो की जाती है मगर अमल में नहीं लायी जाती. गांधीजी एवं उनके विचार आज कहीं लुप्त होते हुए नज़र पद रही है.

आज उनके जन्म जयंती पर उन्हें और उनके कुछ विचारों को याद करते हैं जो आज के दौर में लागू पड़ती है. गांधीजी स्वच्छता, अहिंसा और सत्यवादी इंसान थे. गांधीजी ने स्वदेशी सामन की बात आगे रख खादी को अपनाया.

गांधीजी की कुछ बातें जो उनके व्यहवार को दर्शाती है.

गांधीजी का मानना था की खुद को वो बदलाव बनना चाहिए जो हम दुनिया में लाना चाहते हैं. वे कहते थे कि खुद को खोजने का सबसे अच्छा तरीका है, खुद को दूसरों की सेवा में खो दो. अहिंसा मानवता के लिए सबसे बड़ी ताकत हैं। यह आदमी द्वारा तैयार विनाश के ताकतवर हथियार से अधिक शक्तिशाली हैं.

गांधीजी मानते थे की सिंपल लिविंग, हाई थिंकिंग. यानी साधारण रहो मगर सोच ऊँची रखो. ऐसी कई सी अन्य बातें हैं जो आज के दौर में अमल करना जरूरी और मुश्किल तो है मगर नामुमकिन नहीं.

आज पूरा देश उनके जन्म जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करता है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button