FeaturedHealthHindi

आप जानते हैं कि फैट क्या है? 

2 Nov. Vadodara: जब हम शरीर की जरूरत से ज्यादा मात्रा में फैट खाते-पीते हैं, तो इस तरह की बीमारियों को न्योता देते हैं। फैट एक स्वस्थ संतुलित आहार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। हमें अपने आहार में थोड़ी मात्रा में फैट की आवश्यकता है; यह ऊर्जा का बेहतरीन सोर्स है और फैट हमें घुल जाने वाले विटामिन A, D, E और K को अब्सॉर्ब करने में मदद करता है और यह हमें आवश्यक फैटी एसिड भी प्रदान करता है।

हालांकि, अगर हम बहुत अधिक फैट खाते हैं, तो इससे वजन बढ़ सकता है और समय के साथ यह मोटापा में विकसित हो सकता है, जिससे हार्ट अटैक टाइप 2 डायबिटीज और कुछ कैंसर जैसी अन्य गंभीर स्वास्थ्य स्थितियों का खतरा बढ़ जाता है।सभी प्रकार के फैट समान मात्रा में 9 kcal प्रति ग्राम प्रदान करते है। प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट जैसे अन्य पोषक तत्वों की तुलना में यह अधिक कैलोरी है। प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट में लगभग 4 kcal प्रति ग्राम कैलरी होती है।

फैट दो तरह के होते हैं। पहला- गुड फैट, दूसरा- बैड फैट। आमतौर पर हम समझते हैं कि गुड फैट लेने से हमें कोई दिक्‍कत नहीं होगी। ऐसा बिल्कुल नहीं है।फैट कोई भी हो, अगर हम उसे गलत ढंग से खा-पी रहे हैं तो वो सेहत के लिए अच्छा नहीं है।

इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) के मुताबिक, हम भारतीय खाने में ज्यादा फैट ले रहे हैं। ग्रामीण भारत में 22% और शहरी भारत में 27% कैलोरी ऊर्जा लोग ऐसी चीजों से ले रहे हैं, जिनमें फैट की मात्रा ज्यादा होती है। देश की ग्रामीण आबादी एनर्जी के लिए फैट वाले फूड प्रोडक्ट पर 12% और शहरी लोग 17% ज्यादा निर्भर हैं। ICMR की गाइडलाइन के मुताबिक, हमें फैट वाले फूड प्रोडक्ट से 10% से ज्यादा एनर्जी नहीं लेनी चाहिए।

स्टेट ऑफ फूड सिक्योरिटी एंड न्यूट्रिशन की 2019 की रिपोर्ट मुताबिक, भारत में 2012 में मोटापे की दर 3% थी, यह 2016 में बढ़कर 3.8% हो गई।

क्या फैट मोटापे की वजह है?

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के मुताबिक, हम जरूरत से ज्यादा फैट ले रहे हैं तो इससे शरीर का वेट बढ़ना तय है। यहां तक किसी भी एक न्यूट्रिशन पर जरूरत से ज्यादा निर्भर होने का मतलब है कि हम अपनी सेहत से खिलवाड़ कर रहे हैं। फैट के अलावा कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और अल्कोहल का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल भी हमारे वेट को बढ़ा सकता है।

किन चीजों से फैट ज्यादा मिलता है?

हम रोजमर्रा की जिंदगी में कई बार अलग-अलग रूप में फैट देते हैं। फ्रेंच फ्राइज, प्रोसेस्ड फूड, केक, कुकीज, चॉकलेट, चीज और आइसक्रीम जैसी चीजों में फैट की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। इनको ज्यादा खाने से मोटापे के अलावा टाइप-2 डाइबिटीज, कैंसर और हार्ट की बीमारियां हो सकती हैं।

vnm tv

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के रिसर्च पेपर के मुताबिक, अगर हम गुड फैट लेते हैं तो रिस्क फैक्टर कम हो जाता है। कुछ भी खाने से पहले आप यह तय कर लें कि उसमें किस तरह का फैट है।

गुड फैट और बैड फैट में अंतर कैसे करें?

फैट 2 तरह के हैं, सेचुरेटेड और अनसेचुरेटेड। अनसेचुरेटेड फैट को ही गुड फैट कहा जाता है। आप इससे बैड फैट को रिप्लेस करते हैं तो मोटापे, हार्ट डिजीज, हाइपरटेंशन और डाइबिटीज जैसी बीमारियों का रिस्क कम हो जाता है।

सेचुरेटेड यानी बैड फैट। यदि आप बैड फैट खा-पी रहे हैं तो आप ब्लड कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ा रहे हैं। इससे ट्राईग्लिसराइड भी बढ़ जाता है। यही चीजें मोटापे और हार्ट डिजीज की वजह बनती हैं। बैड फैट थोड़े सस्ते भी होते हैं, इसलिए लोग इसका इस्तेमाल ज्यादा करते हैं।

गुड फैट भी बैड फैट हो सकता है

वैसे फैट कैसा भी हो, अगर हम खाने के बाद एक्सरसाइज या वर्कआउट नहीं करेंगे तो सेहत बिगड़नी तय है। जब हम गुड फैट वाले आयल को हाई टेंपरेचर पर पकाते हैं तो वह बैड फैट में बदल जाता है। इसके अलावा जब हम घी जैसे गुड फैट से पूड़ी-पराठा बनाते हैं, तो वह भी बैड फैट में बदल जाता है, क्योंकि इसमें धुआं निकलता है।

vnm tvकम फैट वाले आहार?

क्या अपने आहार से सभी फैट को खत्म करने की कोशिश करना बेहतर है? नहीं।

आपके शरीर को कुछ फैट की आवश्यकता होती है – स्वस्थ फैट – सामान्य रूप से कार्य करने के लिए। यदि आप सभी फैट से बचने की कोशिश करते हैं, तो आप फैट में घुलनशील विटामिन और आवश्यक फैटी एसिड की अपर्याप्त मात्रा प्राप्त करने का जोखिम उठाते हैं।इसके अलावा, अपने आहार से फैट को हटाने की कोशिश में, आप फल, सब्जियां, फलियां और पूरे अनाज जैसे स्वस्थ और स्वाभाविक रूप से कम फैट वाले खाद्य पदार्थों को खा सकते हैं। अपने आहार में फैट को दूर करने के बजाय, संयम में स्वस्थ फैट का आनंद लें।

प्रति दिन आपको कितना फैट खाना चाहिए?

2,000 कैलोरी आहार पर एक पुरुष या महिला के लिए, लक्ष्य फैट कैलोरी रेंज 400 से 700 कैलोरी है। फैट में प्रति ग्राम 9 कैलोरी होती है,यदि आप प्रतिदिन 2,000 कैलोरी आहार खाते है तो, तो आपके daily फैट का सेवन 44 से 78 ग्राम है। यदि आप 1,500 कैलोरी और 2,500 कैलोरी आहार खाते है तो उसके लिए daily फैट राशि क्रमशः 33 से 58 ग्राम और 56 से 97 ग्राम है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button