HindiReligion

भगवान श्री दत्तात्रेय जी की दत्तजयंती

29 Dec. Vadodara: दिगंबरा दिगंबरा श्रीपाद वल्लभ दिगंबरा….के जयघोष के साथ आज भक्तजनों ने भगवान श्री दत्तात्रेय जी की प्रादुरभाव जयंती पूरे उत्साह से मनाई।

आज मार्गशीर्ष की शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी का दिन श्री गुरुदेव दत्तात्रेय भगवान की प्रादुर्भाव जयंती का पर्व है।महासती अनसूया और ऋषि अत्री के दिव्य पुत्र को पिता अत्री ने जनसेवा के लिए समर्पित किया,दत्त यानी दिए हुए और उनके पिता के नाम को जोड़कर से दत्तात्रेय कहलाए।

पौराणिक कथा अनुसार महसती अनसूया के सतीत्व की परीक्षा लेने आए ब्रह्मा,विष्णु और महेश ने उनसे वस्त्रहीन होकर भिक्षा देने कहा ,तब अपने सतीत्व और तप के प्रभाव से उन तीनों को उन्होंने पालने में झूलने वाले बच्चे बना दिया।त्रिदेव शरमाये और सती अनुसूया से माफी मांगी ।तब तीनों देवों ने संयुक्त रूप से उन्हें वरदान दिया, और ऐसे इन तीनों देवों के रूप तेज वाले भगवान दत्तात्रेय का प्रादुर्भाव हुआ।

आज नारेश्वर स्थित आश्रम अवधूत समेत सभी दत्त मंदिरों में भजन ,कीर्तन दत्त बावनी का पाठ,हवन,पूजन कर भक्त दत्त जयंती मानते है। और….

जय देव दत्त दिगंबरा मूर्ति महिमा विशेष
त्रिमूर्ति रूप में बसे ब्रह्मा विष्णु महेश
इन शब्दों के साथ भक्त ” दिगंबरा दिगंबरा श्रीपाद वल्लभ दिगंबरा ” के नाद के साथ भक्ति में लीन हो जाते है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button