HindiReligion

5 अगस्त को होगा राममंदिर का भूमिपूजन और शिलान्यास कार्यक्रम

5 अगस्त को होगा राममंदिर का भूमिपूजन और शिलान्यास कार्यक्रम

File Photo

28 July Vadodara : 5 अगस्त के दिन अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन होने जा रहा है। तो चलिए पहले जान लेते है इस मंदिर का इतिहास।
हिन्दुओं की मान्यता है कि श्री राम का जन्म अयोध्या में हुआ था और उनके जन्मस्थान पर एक भव्य मन्दिर विराजमान था।जिसे मुगल आक्रमणकारी बाबर ने तोड़कर वहाँ एक मस्जिद बना दी थी। अयोध्या के रामकोट मुहल्ले में एक टीले पर लगभग पाँच सौ साल पहले वर्ष 1528 से 1530 में बनी मस्जिद पर लगे शिलालेख और सरकारी दस्तावेज़ों के मुताबिक़ यह मस्जिद हमलावर मुग़ल बादशाह बाबर के आदेश पर उसके गवर्नर मीर बाक़ी ने बनवाई।लेकिन इसका कोई रिकार्ड नहीं है।ऐसा कहा-सुना जाता है कि इस मस्जिद को लेकर स्थानीय हिंदुओं और मुसलमानों में कई बार संघर्ष हुए।

कई विदेशी यात्रियों के संस्मरणों और पुस्तकों में उल्लेख है कि हिंदू समुदाय पहले से इस मस्जिद के आसपास की जगह को राम जन्म्स्थान मानते हुए पूजा और परिक्रमा करता था। उसी को लेकर कई सालों से बहस छिड़ी हुई थी ।अयोध्या विवाद जो कि सर्वोच्च न्यायालय मे लंबित था, उसका निर्णय पाँच जजों की मुख्य न्यायाधीश रजंन गोगोई की अध्यक्षता में दिया गया। इसके अन्तर्गत उच्च न्यायालय के फैसले को पलटते हुए सर्वोच्च न्यायालय ने अपना फैसला सुनाया।इसके बाद सर्वोच्च न्यायालय की बेंच ने 5-0 से एकमत होकर विवादित स्थल को मंदिर का स्थल मानते हुए, फैसला रामलला के पक्ष मे सुनाया।

इसके अंतर्गत विवादित भूमि को राम जन्मभूमि माना गया और मस्जिद के लिये अयोध्या में 5 एकड़ ज़मीन देने का आदेश सरकार को दिया। अब वहां पर भव्य श्री राम मंदिर निर्माण होगा।इतने सालो के इंतेजार के बाद आखिरकार अब राम मंदिर बनने जा रहा है। फिलहाल जो मंदिर का मॉडल है उसके मुताबिक 67 एकर के क्षेत्र की ज़मीन में मंदिर बनने वाला है। हालांकि श्री राम जन्मभूमि ट्रस्ट सोच रहा है कि मंदिर का क्षेत्र 108 एकर तक हो और अगर ऐसा हो गया तो यह मंदिर इतनी बड़ी जगह में बनने वाला दुनिया का चौथा मंदिर होगा। 5 अगस्त को जब भूमि पूजन होगा तब उसी के साथ मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। निर्माण कार्य के शुरू हो जाने के बाद अगले 3 सालो में मंदिर बन जायेगा ऐसी उम्मीद फिलहाल जताई जा रही है।

इस वक्त राम मंदिर का जो निर्माण कार्य 5 अगस्त से शुरू होनेवाला है उसकी तैयारियां की जा रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राम मंदिर का भूमि पूजन एवं शिलान्यास कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए अयोध्या पहुचेंगे। इस कार्यक्रम के लिए 32 सेकंड का समय निकाला गया है जिसे बेहद शुभ माना जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक अब तक ऐसा पता चल रहा है कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट चाहता है कि भूमि पूजन और शिलान्यास के दौरान देश भर के मंदिरों में पूजा और शंखनाद किया जाए। इसके लिए एक योजना भी बनाई जा रही है।राम मंदिर के भूमिपूजन कार्यक्रम के लिए पीएम मोदी का कार्यक्रम तय हो गया है। पीएम के इस कार्यक्रम को लेकर अयोध्यावासियों में भी काफी उत्साह है।

Show More

Related Articles

7 Comments

  1. ना पैसा लगता हैं, ना ख़र्चा लगता हैं,
    राम-राम बोलिये बड़ा अच्छा लगता हैं
    जय श्रीराम

  2. कलम की धार तेज कर स्याही खून की बना दो…
    हर एक हिन्दू के अन्दर भगवाँ को जगा दो – “जय श्री राम”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button