12-18 साल के छात्रों को novavax की अनुमति

Image Source: Twitter

23 March 2022

भारत में कोरोनावायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान में एक और नाम शामिल होने जा रहा है। नोवावैक्स को 12-18 आयुवर्ग के लिए आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है। नोवोवैक्स ने ही मंगलवार को यह घोषणा की। पुणे सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में इस वैक्सीन का उत्पादन हुआ है। बीते हफ्ते ही देश में 12-14 आयुवर्ग का टीकाकरण अभियान शुरू हुआ है।

नोवावैक्स वैक्सीन को NVX-CoV2373 नाम से भी जाना जाता है। SII ने कोवोवैक्स के नाम के तहत भारत में इसका उत्पादन किया है। 12-18 आयुवर्ग को दी जानी वाली यह देश की पहली प्रोटीन आधारित वैक्सीन है। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने 12-18 साल के लोगों को आपातकालीन स्थिति में कोवोवैक्स देने के लिए मंजूरी जारी कर दी है।

नोवावैक्स के प्रोसिडेंट और सीईओ स्टेनली सी एर्क ने कहा, ‘इस आबादी में प्रभाव और सुरक्षा के डेटा को देखते हुए किशोरों में मिली इस पहली मंजूरी पर हमें गर्व है। और हमारी कोविड-19 वैक्सीन 12 साल और इससे ज्यादा उम्र के लोगों में प्रोटीन आधारित वैक्सीन का विकल्प उपलब्ध कराएगी।’ SII के सीईओ अदार पूनावाला ने इस वैक्सीन को मिली इस मंजूरी पर खुशी जाहिर की है। उन्होंने कहा, ‘हमें हमारे देश के किशोरों के लिए प्रोटीन आधारित सुरक्षित कोविड-19 वैक्सीन देने पर गर्व हो रहा है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Whatsapp