वडोदरा कांग्रेस की लाल बहादुर शास्त्रीजी को पुष्पांजलि

11-01-2023, Tuesday

देश को जय जवान जय किसान का नारा देने वाले पूर्व स्वर्गीय प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि आज देशभर में मनाई गई।

आजाद भारत के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की आज पुण्यतिथि है। जय जवान, जय किसान’ का नारा देने वाले शास्त्री जी का निधन 11 जनवरी 1966 को हुआ था। लाल बहादुर शास्त्री एक ऐसे प्रधानमंत्री थे, जिनके आह्वान पर पूरे देश ने एक वक्त का खाना छोड़ दिया था। पंडित जवाहर लाल नेहरू के निधन के बाद 9 जून 1964 को उन्होंने प्रधानमंत्री का पदभार ग्रहण किया और करीब 18 महीने तक देश का नेतृत्व बतौर प्रधानमंत्री किया। उनके नेतृत्व में ही 1965 में भारत-पाकिस्तान जंग में पड़ोसी मुल्क को शिकस्त मिली थी और 10 जनवरी, 1966 को ताशकंद समझौते के दस्तावेज पर हस्ताक्षर के कुछ घंटे बाद 11 जनवरी 1966 की रात में लाल बहादुर शास्त्री जी की रहस्यमयी तरीके से मौत हो गई। उनका पूरा जीवन हर किसी के लिए प्रेरणा रहा। ईमानदार छवि और सादगी से जीवन जीवे वाले शास्त्री जी के कुछ ऐसे विचार हैं, जो आपको सही राह पर चलने की सीख देते हैं।

शास्त्रीजी की पुण्यतिथि के मौके पर गुजरात के वडोदरा में कांग्रेस पार्टी द्वारा संगम चार रस्ता पर लाल बहादुर शास्त्री जी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि की गई। कांग्रेस अध्यक्ष रुत्विज जोशी, विपक्ष नेता अमी रावत, कांग्रेस नेता चंद्रकांत श्रीवास्तव, नरेंद्र रावत समेत के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने इस मौके पर शास्त्रीजी को पुष्पमाला अर्पण करते हुए उनके योगदान को याद किया।

Whatsapp