राहुल गांधी की विदेश यात्रा विवादों में

26-05-22

लंदन जाने से पहले कांग्रेस सांसद ने विदेश मंत्रालय से नहीं ली अनुमति

कांग्रेस पार्टी ने किया बचाव

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की लंदन यात्रा को लेकर राजनीतिक घमासान मच गया है। सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी ने लंदन यात्रा से पहले विदेश मंत्रालय से परमिशन नहीं ली थी। सूत्रों ने विदेश मंत्रालय के हवाले से इसकी जानकारी दी है।

बता दें कि राहुल गांधी ने लंदन के कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में ‘आइडियाज फॉर इंडिया’ सम्मेलन में केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा था। उन्होंने आरोप लगाया कि भारत में स्थिति ठीक नहीं है। भाजपा ने देशभर में केरोसिन छिड़क रखा है। सिर्फ एक चिंगारी देश को सांप्रदायिक हिंसा की आग में झाेंक सकती है।

किसी भी सांसद को विदेश यात्रा करने से पहले विदेश मंत्रालय से परमिशन लेना अनिवार्य होता है। यात्रा के कम से कम 3 हफ्ते पहले पूरी जानकारी मंत्रालय की वेबसाइट पर डालना जरुरी होता है।

इतना ही नहीं सांसदों को विदेशी सरकारों, संस्थाओं आदि से मिलने वाले निमंत्रण विदेश मंत्रालय के माध्यम से मिलने चाहिए। अगर किसी सांसद को निजी तौर पर निमंत्रण मिलता है, तो भी उसे मंत्रालय की जानकारी में लाकर मंजूरी लेनी पड़ती है।

राहुल गांधी की यात्रा को लेकर कांग्रेस प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सांसदों को प्रधानमंत्री या सरकार से राजनीतिक मंजूरी की जरूरत नहीं है, जब तक कि वे आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल का हिस्‍सा न हों। सुरजेवाला ने आगे कहा कि कृपया टीवी चैनलों को भेजे गए पीएमओ के व्‍हाट्सएप सुझावों का आंखें मूंदकर पालन न करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Whatsapp