देश की ‘सुपर-7’ महिलाओं को मिला सम्मान

26 April 2022

आजादी के 75 साल पूरे होने के अवसर पर ‘सुपर-7’ महिलाओं को सम्मानित किया गया है। भारत सरकार ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने मंगलवार को सात महिलाओं को विमान उड़ाने, सर्फिंग और पूर्ण टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए उनकी असाधारण उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया है।

सरकार ने कहा कि इन ‘सुपर-7’ महिलाओं की उपलब्धियों पर शॉर्ट फिल्में बनाई जाएंगी और उन्हें ओटीटी प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स पर दिखाया जाएगा। जिन सुपर सात को सम्मानित किया जा रहा है उनमें बसंती देवी शामिल हैं, जिन्होंने उत्तराखंड में कोशी नदी के संरक्षण के लिए लड़ाई लड़ी है और पद्म पुरस्कार से सम्मानित हैं। इसके अलावा माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली अंशु सेम्पा; हर्षिनी खांडेकर, पूनम नौटियाल, डॉ टेसे थॉमस, आरोही पंडित और तन्वी जगदीश को भी सम्मानित किया गया।

यह आयोजन भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य का हिस्सा है। सूचना एवं प्रसारण सचिव अपूर्व चंद्रा ने महिलाओं को सम्मानित किया। सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, “आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में जनभागीदारी का मुद्दा आंदोलन के मूल में रहा है। यह महिलाओं की भागीदारी और उनकी उपलब्धियों का जश्न मनाने की पहलों में से एक है।”

उन्होंने कहा कि महिलाओं को सभी के लिए प्रेरणा बनना चाहिए, क्योंकि उन्होंने आगे बढ़कर नेतृत्व किया है। उन्होंने कहा, ‘जो किसी महिला ने नहीं किया, वह हर्षिनी ने कर दिखाया, हम सब उन्हें सलाम करते हैं। यह सिर्फ शुरुआत है।”

मंत्री ने नेटफ्लिक्स और प्राइम वीडियो जैसे ओवर-द-टॉप प्लेटफॉर्म द्वारा हासिल की गई वृद्धि की भी सराहना की। उन्होंने कहा, “आज, कंटेंट किंग है, लोग ओटीटी प्लेटफार्मों पर स्विच करेंगे। यही वह शक्ति है जो कंटेंट में है। मुझे यकीन है कि आने वाले वर्षों में भारत दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे अच्छा कंटेंट क्रिएटर होगा।” इस कार्यक्रम में कई सम्मानित महिलाओं और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Whatsapp