इडर का खिलौना बाजार मरने की कगार पर

23-12-2022, Friday

गुजरात के साबरकांठा का इडर देशभर में लकड़ी के खिलौने बनाने के लिए जाना जाता है,लेकिन चीनी खिलौने की बढ़ती डिमांड के बीच अब लकड़ी के खिलौने बनाने वाले कारीगर पीछे रह गए हैं।इडर के खरादी बाजार में देश विदेश से लोग लकड़ी के खिलौने लेने आते थे लेकिन अब प्लास्टिक और इलेक्ट्रिक खिलौने बाजार में आ गए हैं।जिससे लकड़ी के खिलौने की डिमांड घट गई है। धीरे-धीरे ईडर का खिलौना बाजार खत्म होने की कगार पर पहुंच गया है। यहां कहीं कहीं आज भी रंग बिरंगी आकर्षक और बेहद सुंदर,देखते ही खरीदने के लिए मन ललचा जाए ऐसे खिलौने और वस्तुएं बनाई जाती है। एक वक्त था जब 300 से ज्यादा कारीगर यहां लकड़ी के खिलौने बनाते थे लेकिन अब सिर्फ तीन से चार ही कारीगर बचे है।

Whatsapp