इंसानों में पहली बार पाया गया H5 बर्ड फ्लू

Image Source: Getty Images

30 April 2022

इंसानों में पहली बार H5 बर्ड फ्लू पाया गया है। मामला अमेरिका के कोलोराडो की एक जेल का है, जहां एक कैदी में इस बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। US सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) ने इसकी जानकारी दी। CDC ने बताया कि कोलोराडो की जेल में बंद कैदी एवियन इन्फ्लूएंजा A(H5) वायरस से संक्रमित पाया गया है। 2020 के बाद अमेरिका में एवियन फ्लू के संक्रमण का यह पहला मामला है।

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, यह व्यक्ति पॉलेट्री के सीधे संपर्क में था। वह H5N1 बर्ड फ्लू से संक्रमित पक्षियों को मारने का काम करता था। अचानक वह बिमार हो गया। जब यह बिमार हुआ तो माना गया कि उसे इसे H5N1 बर्ड फ्लू हो गया है। बिमार होने के दौरान उसे थकान महसूस होने लगी। CDC ने 27 अप्रैल को इलाज के दौरान उसकी नाक से सैंपल लिया गया, जिसमें उसके H5N1 बर्ड फ्लू होने की बात कही गई। हालांकि, एजेंसी ने इस वायरस का सबटाइप नहीं बताया है। फिलहाल, उस व्यक्ति को आइसोलेशन में रखा गया है और फ्लू एंटीवायरल oseltamivir से इलाज चल रहा है।

कोलोराडो में पब्लिक हे्ल्थ डिपार्टमेंट में एपिडिमियोलॉजिस्ट (महामारी विशेषज्ञ) डॉ रेचल हर्लिही ने कहा कि हम कोलोराडो के लोगों को यह आश्वासन देना चाहते हैं कि उन्हें इस फ्लू से खतरा कम है। रेचल ने कहा, मैं CDC, सुधार विभाग और एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट के प्रति आभारी व्यक्त करती हूं, जिन्होंने सहयोग दिया हम इस वायरस की निगरानी जारी रखेंगे और सभी कोलोराडो के नागरिकों की सुरक्षा निश्चित करेंगे।

एवियन इन्फ्लूएंजा मुख्य रूप से जंगली पक्षियों और मुर्गियों में होता है, इंसानों में इसका मिलना बहुत दुर्लभ है। US Centre For Disease Control के मुताबिक बर्ड फ्लू के H5N1 और H7N9 स्ट्रेन 1997 और 2013 में पाए गए थे, ये इंसानों में एवियन इन्फ्लूएंजा के मामलों के लिए जिम्मेदार हैं।
WHO के अनुसार ये इन्फ्लूएंजा इंसानों में संक्रमित जानवरों या प्रदूषित वातावरण में आने से होता है, लेकिन इंसानों में इस वायरस के फैलने की संभावना कम होती है।

इससे पहले हाल ही में चीन के मध्य हेनान प्रांत में किसी इंसान में एवियन फ्लू के H3N8 स्ट्रेन का पहला मामला सामने आया था। वहां के नेशनल हेल्थ कमिशन के मुताबिक, 4 साल का बच्चा एवियन फ्लू से संक्रमित पाया गया था। हालांकि, हेल्थ कमिशन के तरफ से यह भी कहा गया था कि इसका इंसानों में तेजी से फैलने का जोखिम कम है। H3N8 एवियन फ्लू कुत्तों, घोड़ों, बत्तखों, मुर्गों और बिल्लियों को संक्रमित करता है। इसके इंसानों को संक्रमित करने की संभावना कम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Whatsapp